logo

Haryana News: हरियाणा में हर घर में लगेंगे स्मार्ट मीटर, बिजली जाने का झंझट होगा पूरी तरह खत्म

Haryana News

Haryana News: हरियाणा सरकार ने हरियाणा के कई शहरों में स्मार्ट बिजली मीटर लगाने की योजना बनाई है।घंटों का बिजली कट से  लोगों को परेशानी न हो इसके लिए हरियाणा सरकार की तरफ से फैसला लिया गया है।

बिजली अधिकारियों के अनुसार अब अक्टूबर महीने से ही बिजली मीटर लगाने की प्रक्रिया शुरु हो जाएगी। बता दें कि स्मार्ट मीटर लगने के बाद रिचार्ज न करवाने पर बिजली कनेक्शन कट जाएगा।

बिजली निगम ने शहर के एनआईटी इलाके से फरवरी माह में स्मार्ट मीटर लगाने का निर्णय लिया था। इसको लेकर बिजली निगम की एनर्जी एफिशियेंसी सर्विसिज लिमिटेड (ईईएसएल) के अधिकारियों के साथ बैठक भी हो गई थी। 

इसमें फरवरी माह से मीटर लगाने की प्रक्रिया शुरू करने का निर्णय लिया गया था। इसके बाद ईईएसएल कंपनी और बिजली निगम के बीच मीटर लगाने के शुल्क को लेकर विरोधाभास पैदा हो गया था। 

इस वजह से मीटर लगाने की कार्रवाई रुक गई। अब लगातार तापमान बढ़ता जा रहा है। तापमान के बढ़ने से बिजली की खपत बढ़ती जा रही है। बिजली निगम का कहना है कि यदि अब गर्मी में स्मार्ट मीटर लगाने की प्रक्रिया शुरू होगी तो बिजली आपूर्ति बंद करनी पड़ेगी।

बिजली विभाग के अधीक्षण अभियंता, नरेश कुमार कक्कड़ ने बताया कि स्मार्ट मीटर लगाने से बिजली कटौती करनी होगी। गर्मी में बिजली कट लगाना ठीक नहीं होगा। गर्मी के बाद स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे।अगर कोई भी मीटर रिचार्ज नहीं करवाता तो उसके घर का अस्थाई तौर पर बिजली कनेक्शन कट हो जाएगा। रिचार्ज होने पर मीटर कनेक्शन तुरंत चालू हो जाएगा।

प्रीपेड मीटर लगने पर मीटर किराया शुल्क, फिक्स चार्ज, मासिक न्यूनतम शुल्क प्रतिदिन के हिसाब से लिए जाएंगे। यदि कोई उपभोक्ता इन शुल्क नहीं देता है तो कर्मचारी मौके पर जाकर बिजली कनेक्शन काट देंगे। 

यदि कोई बिजली उपभोक्ता किसी काम से महीने दो महीने के लिए अपने घर से बाहर जाता है तो उसे औसत बिल नहीं भरना पड़ेगा।स्मार्ट मीटर जीपीएस (ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम) आधारित होंगे। इन मीटरों से चोरी के मकसद से छेड़छाड़ करना काफी मुश्किल होगा। वहीं गलत रीडिंग की समस्या खत्म हो जाएगी। इससे उपभोक्ताओं को गलत बिल नहीं मिलेंगे। 


मीटर को कंट्रोल रूम से जोड़े जाने की सुविधा


इन मीटर को कंट्रोल रूम से जोड़े जाने की सुविधा भी होगी। यही नहीं स्मार्ट मीटर से रीडिंग सीधे सिस्टम में डाउनलोड हो जाएगी। ताकि गलत रीडिंग की आशंका ही न रहे। बिजली निगम अब अपने स्तर पर ठेका छोड़कर स्मार्ट मीटर लगवाने पर विचार कर रहा है।

आपको बता दें कि 2019 से  मीटर लगाने की तैयारियां चल रही हैं, लेकिन अभी तक शहर में मीटर लगाने की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है।


 

Click to join whatsapp chat click here to check telegram