logo

HSSC ने ग्रुप सी की भर्ती को लेकर HC में दिया जवाब, चार गुना से अधिक उम्मीदवारों को बुलाने पर कही ये बात

HSSC


चंडीगढ़ | हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (HSSC) ने ग्रुप सी भर्ती के लिए 56 और 57 श्रेणी सीईटी परीक्षा में 4 गुना से अधिक उम्मीदवारों को बुलाने का फॉर्मूला पंजाब- हरियाणा उच्च न्यायालय में दायर किया है. एचएसएससी ने अपनी दलील में बताया कि एकल पीठ के न्यायाधीश ने कहा है कि परीक्षा में शामिल होने वाले उम्मीदवारों की सूची सार्वजनिक की जानी चाहिए, ताकि पता चल सके कि वे किसके साथ प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं.

HSSC ने कही ये बात
एकल पीठ की इस टिप्पणी से परीक्षा के संचालन पर किसी भी तरह का असर नहीं पड़ेगा. जिस उम्मीदवार के साथ प्रतिस्पर्धा हो रही है, उसके नाम की पहचान परीक्षा के परिणाम को प्रभावित नहीं कर सकती है क्योंकि परीक्षा योग्यता के आधार पर उत्तीर्ण की जाएगी न कि नाम के आधार पर. आयोग ने ऐसे और भी तर्क देकर इन आशंकाओं का खंडन किया है.

इस फॉर्मूले में आयोग ने कहा है कि एक समूह में एक से अधिक श्रेणी के लिए केवल एक ही अभ्यर्थी को पात्र माना गया है. आयोग ने कहा है कि यदि श्रेणीवार छंटनी की जाती तो केवल मेरिट वाले अभ्यर्थी ही दोहराए जाते. इसलिए आयोग द्वारा अन्य श्रेणियों के लिए अन्य को मौका दिया गया. यही कारण है कि आयोग ने चार गुना अभ्यर्थियों को बुलाया है.


इस वजह से किया गया था ऐसा
चार गुना अभ्यर्थियों को शॉर्टलिस्ट करने के बाद यदि किसी श्रेणी में अभ्यर्थियों की कमी है तो उस श्रेणी से अधिक अभ्यर्थियों को योग्यता के आधार पर समायोजित किया गया है. इसलिए समूह में चार गुना से अधिक उम्मीदवारों की अधिसूचना के आधार पर शॉर्टलिस्टिंग की गई है. यदि समूह में चार गुना से अधिक अभ्यर्थी नहीं लिए जाएंगे तो संभावना है कि प्रतिस्पर्धा ही नहीं होगी.


27162 अभ्यर्थियों ने दोहराया
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने दलीलों में बताया कि ग्रुप 56 में 37,657 उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया गया था. ग्रुप 57 में 30,704 उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया गया था. दोनों ग्रुप के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए. कुल 68,361 उम्मीदवारों में से 27,162 उम्मीदवार दोनों ग्रुप में रिपीट कैंडिडेट थे. इस प्रकार अद्वितीय उम्मीदवारों को छोड़कर समूह 56 और 57 में कौशल परीक्षण के लिए 41,199 उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया गया था. अब सुनवाई के बाद ही पता चल सकेगा कि आगे इस पूरे मामले में क्या होता है.

Click to join whatsapp chat click here to check telegram