logo

फतेहाबाद में खेत जलमग्न, बाढ़ जैसे हालात बने:किसानों ने प्रशासन को बताई व्यथा; बोले- एसटीपी में हुई लीकेज, फसलें-ट्यूबवेल सब डूबे

 फतेहाबाद
zxx
फसलें-ट्यूबवेल सब डूबे

 फतेहाबाद में खेत जलमग्न, बाढ़ जैसे हालात बने:किसानों ने प्रशासन को बताई व्यथा; बोले- एसटीपी में हुई लीकेज, फसलें-ट्यूबवेल सब डूबे


हरियाणा के फतेहाबाद में भारी बारिश के बाद फिर बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। पिछले साल जहां बाढ़ घग्घर नदी में पानी बढ़ने से आयी थी,

वहीं इस बार दो-तीन दिन तक हुई मानसून की तेज बारिश के चलते खेतों में भारी जल भराव हुआ है। किसान इसके लिए प्रशासन को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। हालात ये हैं कि फतेहाबाद के बाहर नेशनल हाइवे बाइपास के साथ-साथ काफी बड़े क्षेत्र में बरसाती पानी जमा हो चुका है।

फतेहाबाद में माजरा रोड से लेकर रतिया रोड तक चारों तरफ बारिश का पानी ही पानी नजर आता है। यह पिछले साल आई बाढ़ की त्रासदी याद करवा रहा है। काफी एकड़ जमीन में लगी धान की फसल पानी में डूब चुकी है, तो वहीं कई ढाणियां और ट्यूबवेल भी पानी की चपेट में हैं।


 किसानों ने बताया कि यहां एसटीपी पाइप लाइनों में लीकेज थी, जिसे प्रशासन ने समय रहते संभाला नहीं। जब बरसात आई तो शहर भर से सारा पानी चिल्ली झील में डालकर वहां से पाइपलाइन द्वारा एसटीपी तक लाया गया। यहां पर पाइपलाइन लीकेज होने के चलते पानी आगे जाने की बजाय खेतों में फैल गया और यहां से होते हुए वापस चिल्ली झील तक पहुंच गया है।

Click to join whatsapp chat click here to check telegram