logo

30-30 वर्ग गज के प्लाट देकर सरकार ने गरीबों से किया मजाक: कुमारी सैलजा

-कांग्रेस शासन में गरीबों को दिए गए थे 100-100 गज के प्लाट मुफ्त
xaaa
बीपीएल परिवार 13 हजार रुपये प्रतिमाह की किस्त कहां से जमा करवाएगा

30-30 वर्ग गज के प्लाट देकर सरकार ने गरीबों से किया मजाक: सैलजा

बीपीएल परिवार 13 हजार रुपये प्रतिमाह की किस्त कहां से जमा करवाएगा

-कांग्रेस शासन में गरीबों को दिए गए थे 100-100 गज के प्लाट मुफ्त

 चंडीगढ़, 9 जुलाई। 

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव, पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सिरसा लोकसभा क्षेत्र से सांसद कुमारी सैलजा ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार गरीबों, किसानों, युवाओं और कर्मचारियों के साथ मजाक करने में लगी हुई है। गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को जहां 100-100 वर्ग गज के प्लाट नि:शुल्क दिए जाने थे अब उन्हें एक एक लाख रुपये लेकर 30-30 वर्ग गज के प्लाट दिए जा रहे हैं जो किस्तों में देने होंगे। मकान बनाने के लिए ब्याज पर 6 लाख तक का ऋण उपलब्ध करवाने की बात कही गई है। ऐसे में गरीब परिवार किस्त के रूप में कम से कम 13000 रुपये कैसे जमा करवाएगा। सरकार ने प्लॉट के नाम पर उलझाकर रख दिया है। जब उसके पास पैसों की व्यवस्था नहीं होगी तो उसे प्लाट छोड़ना होगा। 

मीडिया को जारी बयान में सांसद कुमारी सैलजा ने कहा है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 11 शहरों में गरीबों को जिनकी आय 1.80 लाख से कम है, उन्हें हाउसिंग फार ऑल योजना के तहत 30 वर्ग गज के प्लॉट दिए जाने की घोषणा की थी। इस योजना के तहत प्रोविजनल आवंटन पत्र प्राप्त होने के 30 दिनों के भीतर 10 हजार रुपये और शेष 80 हजार रुपये छह किस्तों में जमा करवाने होंगे। शर्त के अनुसार प्लाट धारक को आवंटन के एक साल के भीतर आवासीय इकाई का निर्माण करना होगा और 24 माह के भीतर निर्माण पूर्ण करना होगा। प्लॉट का उपयोग केवल आवास निर्माण के लिए करना होगा, आवंटन की तिथि से 10 साल तक न तो प्लॉट को बेचा जा सकेगा और न ही पट्टे पर दिया जा सकेगा।

उन्होंने कहा कि शर्तानुसार लाभार्थी बैंकों/वित्तीय संस्थाओं से घर निर्माण के लिए ब्याज पर 6 लाख रुपये तक के गृह ऋण की सुविधा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि प्लॉट की किस्त और बैंक की किस्त के रूप में कम से कम लाभार्थी को 13000 रुपये प्रति माह देने होंगे जो एक बीपीएल परिवार के लिए असंभव है, जिस परिवार की आय ही 1.80 लाख रुपये से कम हो वह प्रति माह 13000 रुपये की किस्त के साथ साथ परिवार का भरण पोषण कैसे करेगा। सरकार की शर्तें पूरी न होने पर मजबूरन उसे प्लॉट सरेंडर करना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार का गरीबों को 30-30 वर्ग गज का प्लाट एक प्रकार से गरीबों का मजाक उड़ाना ही है।

उन्होंने कहा कि सरकार को अगर प्लॉट देने ही थे तो नि:शुल्क देते। सैलजा ने कहा कि कांग्रेस राज में गरीबों को 100-100 वर्ग गज के प्लाट नि:शुल्क उपलब्ध करवाए थे। भाजपा सरकार ने उस नीति पर न चलते हुए पैसा लेकर 30-30 वर्ग गज के प्लॉट देकर गरीबों के साथ मजाक किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार आने पर गरीबों को 100-100 वर्ग गज के प्लाट निशुल्क उपलब्ध करवाए जाएंगे।

Click to join whatsapp chat click here to check telegram