logo

बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने लगाया खुला दरबार, हल्कावासियो की सुनी समस्याएं, अधिकारियों को दिए प्राथमिकता से समाधान के निर्देश

XX

रानियां, 06 जुलाई।
 अधिकारी अपने काम के प्रति जवाबदेह बनें। विकास कार्यों को निर्धारित अवधि में पूरा किया जाए। विकास कार्यों में किसी भी लापरवाही को बर्दाश्त नही किया जाएगा। काम नहीं करने वाले अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

ये निर्देश बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने शनिवार को रानियां के गाबा रिसोर्ट में आयोजित खुले दरबार मे हल्कावासियो की समस्याओं को सुनने के दौरान उपस्थितजन को संबोधित करते हुए कही। खुले दरबार मे जहाँ अधिकारियों से रानियां हल्का के विकास कार्यों की रिपोर्ट तलब की, वहीं लोगों की समस्याओं को सुनते हुए अधिकारियों को जल्द समाधान के निर्देश दिए। 

विकास कार्यों में ढिलाई वाले ठेकेदारो को करें ब्लैकलिस्ट :
विकास कार्यों को लेकर बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने अधिकारियों को सख्त लहजे में कहा कि विकास कार्यों में किसी प्रकार की ढिलाई बर्दाश्त नही की जाएगी। यदि कहीं पर यदि ठेकेदार की लापरवाही से काम मे देरी हो रही है, तो ऐसे ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट किया जाए।

अधिकारियों ने रखी हल्का की विकास रिपोर्ट, जल्द होगा बड़े प्रॉजेक्ट का काम :
लोगों की समस्या सुनने के दौरान ही बिजली मंत्री ने अधिकारियों से हल्का रानियां के विकास की रिपोर्ट ली। जन स्वास्थ्य विभाग अधिकारी की ओर से बताया गया कि रानियां शहर में बनने वाले 61 करोड़ के नहरी जल घर का काम अगस्त माह में शुरू हो जाएगा। इसी प्रकार बरसाती पानी  निकासी के 14 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट पर भी तेजी से काम किया जा रहा है। पंचायती राज विभाग की ओर से पिछले चार-पांच साल के दौरान हल्का रानियां में 55 से 60 करोड़ रुपए के कार्य हुए हैं। इसके साथ ही 32 ई-लाइब्रेरी स्थापित की गई हैं। ये सब बिजली मंत्री के प्रयासों का ही परिणाम है। इस प्रकार एक-एक कर विभाग के अधिकारियों ने हल्का में हुए विकास कार्यों की जानकारी दी।

अधिकारी 10 दिन में देंगे रिपोर्ट, हल्का का दौरा कर सुनूंगा समस्याएं:
बिजली मंत्री ने कहा कि खुले दरबार में लोगों की जो समस्या या शिकायत आई है, उन पर सम्बन्धित विभाग कार्यवाही करेंगे। 10 दिन बाद सभी से इन समस्याओं के समाधान बारे रिपोर्ट ली जाएगी। वे खुद भी पूरे हल्के का दौरा करेंगे और लोगो की समस्याएं सुनेंगे।

दिव्यांग बच्चों को 50-50 हजार रुपए आर्थिक सहायता की घोषणा :
खुले दरबार में एक महिला अपने दो दिव्यांग बच्चों के साथ पहुंची। उसकी शिकायत उनके जेठ द्वारा उनके साथ गलत हरकतें करने के दबाव बनाने व उनके साथ मारपीट को लेकर थी। मंत्री ने पुलिस को निर्देश दिए कि महिला की शिकायत पर तुरन्त कार्रवाई की जाए। महिला ने बताया कि उसके दो दिव्यांग बच्चे हैं। मंत्री ने तुरंत सम्बंधित अधिकारियों को बुलाकरदोनों बच्चों को योजना से मिलने वाले लाभ के संबंध में कार्यवाही करने को कहा। उन्होंने दोनों बच्चों को अपने निजी कोष से 50-50 हजार रुपए की राशि देने की भी घोषणा की। इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त डॉ विवेक भारती, एसडीएम डॉ वेद प्रकाश बेनीवाल सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Click to join whatsapp chat click here to check telegram