logo

साईबर अपराधियों से बचने के लिए जागरुकता व सतर्कता ही सबसे बडा शस्त्र : पुलिस अधीक्षक डबवाली

xas

साईबर अपराधियों से बचने के लिए जागरुकता व सतर्कता ही सबसे बडा शस्त्र : पुलिस अधीक्षक डबवाली

 

          डबवाली 04 जुलाई ।  साईबर अपराधी अपराध करने के हर दिन नए नए तरीके अपना रहे हैं। आमजन के जागरुक होने से ही साईबर अपराधियों के चंगुल में आने से बचा जा सकता है । डबवाली पुलिस अधीक्षक श्रीमति दीप्ति गर्ग आई पी एस द्वारा साईबर अपराधों के प्रति आमजन को जागरुक करने के लिए एडवाजरी जारी की है। पुलिस अधीक्षक डबवाली ने जानकारी देते हुए बताया कि आमजन को साईबर अपराधों के प्रति जागरुक करने हेतू पुलिस द्वारा समय समय पर अभियान चलाकर लोगों को जागरूक किया जाता हैं। साईबर अपराधों से बचने के लिए जागरुकता व सतर्कता ही सबसे बडा हथियार है।

 

निम्न बातों का रखे ध्यान :

1. ऑनलाइन खरीदारी करते समय चैक करें वैबसाइट के यूआरएल में एचटीटीपीएस हो न की खाली एचटीटीपी।

2. अगर कोई अपरिचित व्यक्ति किसी एप्लीकेशन को डाउनलोड करने के लिए कहता है तो एप्लीकेशन डाउनलोड न करें।

3. किसी भी व्यक्ति के साथ अपने बैंक डिटेल, एटीएम कार्ड नम्बर,कार्ड की एक्सपायरी एवं कार्ड पर पीछे लिखे तीन डिजिट के सीवीवी नम्बर को किसी के साथ शेयर न करें।

4. किसी अपरिचित नंबर से आपके पास फोन मैसेज या व्हाट्सएप मैसेज पर कोई लिंक या फोटो आए तो उस पर क्लिक न करें।

5. नेटवर्क को 5 जी नेटवर्क में शिफ्ट करवाने के नाम पर धोखाधडी करने वाले से सुरक्षित रहें।

6. अधिकारियों और प्रभावशाली लोगों की फोटो को सोशल मीडिया जैसे व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम पर डीपी (Display Picture) के रूप में प्रयोग कर धोखाधडी कर रहे हैं, सावधान रहें।

7. व्यटसएप पर किसी भी अज्ञात नम्बर से आई किसी भी प्रकार की विडियो या ऑडियो कॉल को रिसीव ना करें।

8.ठगी होने पर तुरन्त हैल्पलाईन नंबर 1930 पर कॉल करें ।

 

आमजन जागरुकता से ही साईबर अपराधियों के चंगुल में आने से बच सकते हैं। इसके बावजूद साइबर क्राइम के शिकार होते हैं तो तुरन्त भारत सरकार द्वारा जारी साईबर क्राइम हैल्पलाईन नम्बर 1930 पर काल करें। 1930 पर तुरन्त शिकायत करने पर आपका पैसा सुरक्षित वापिस आ सकता है।

 

Click to join whatsapp chat click here to check telegram